Fanaa (फना)

                                                       
                                         गूगल इमेज ऑफ़ देवदास 
                                                             
                                   फना 

                                 इश्क में तेरे फना हुआ यूँ दीपबाझीगर 
                            हाल-ए-बयान क्या करू दर्द-ए-जिगर 

                                   न रहा कोई यकीन अब रिश्तोंमे 
                                   मौत भी मिल रही है हमे किश्तों में
                                   राह तकते ही रहते है  तेरी दिलबर 
                                   इश्क में तेरे फ़ना हुआ यूँ दीपबाझीगर 

                                   जी रहे सिर्फ तेरी दीदार की तमन्ना लेकर 
                                   न करेंगे कोई शिकवा गिला तुमसे मिलकर    
                                   फिर भी अश्क-ए-जिगर न आयेंगे बहकर
                                   इश्क में तेरे फना हुआ यूँ दीपबाझीगर 

                                   मौत से जान ख़ाक हो जाए अगर 
                                   जिस्म मिटटी में राख हो जाए अगर 
                                   फिरभी देंगे दुवाही तुम्हे जी भरकर 
                                    इश्क में तेरे फना हुआ यूँ दीपबाझीगर 

                                    
                                        - दीपबाझीगर                      

Comments

  1. Gr88 effort and u have used your name nicely with rhyming in this piece..

    Keep writing..

    ReplyDelete
  2. Thank you Geeta :)

    Yeh my pen-name is lengthy one..
    Still tried ;)
    Thanks Hemant

    ReplyDelete
  3. hey very nice...
    really keep writing sirjee

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

Kashedi Ghat Ghost

Swaroop Paha, Vishwaroop Pahu Naka

Deepbaazigar versus Stocksbaazigar